दादा जी gay दुल्हन बनाकर शादी की

हेलो दोस्तो मेरा नाम राज गुप्ता हे और मे कानपुर से हूँ और मे एक crossdreser हूँ इस लिए मेने अपना नाम पूजा गुप्ता रख लिया हे.. चलिए कहनी पर आती हूँ। ये बात 2012 की हे जब मे class 9th मे था मेरे घर वालो ने मूझे study के लिए इलाहाबाद भेज दिया था वंहा मे कमरा ले कर स्टडी करता था जीस घर मे रहता था उस घर एक 50-55 साल के एक दादा जी रहते थे उनकी पत्नी 20 साल पहले रोड accident मृत्यु हो गई थी उनकी एक बेटी थी वो डेल्ही मे रहती हे शादी हो गई हे। उन दादा जी का नाम महेश शुक्ला था। उस घर मे बस मे और वो रहते थे मेरा कमरा ऊपर था। मूझे 1 महीना हो गया था और मे लडकियो के कपड़े नही पहन पा रहा थी घर पर होती थी तो मम्मी दीदी के पहन लेती था। अब मूझे यंहा पूरी आजदी मिल गई थी कुछ भी पहनो। तो मे स्कूल से आई 1 बजे और सीधे मार्केट चली गयी वंहा से 3-4 ब्रा, पेंटी , मिनी स्कर्ट, top, ले कर आ गई और रोज पहनती थी स्कूल भी मिनी पेंटी पहन कर जाने लगी। रोज रात को panty ब्रा टॉप स्कर्ट पहन कर सोती थी। जब मे नहाती थी तो पेंटी और ब्रा को अपनी शर्ट के नीचे छिपा कर सूखने को डाल देती थी दादा जी बहुत कम ऊपर आते थे तो कोई डर नी था और मे स्कूल चली गई जब लौट के आई तो देखा ब्रा पेंटी गायब थी शर्ट पेंट थी मूझे बहुत डर लगा की दादा जी घर पर बता देंगे लकिन येस नही हुआ शाम को मेने फिर अपनी दूसरी ब्रा पेंटी निकल के पहन ली और लेट गई तो देखा की दादा जी मेरे सबसे ऊपर वाले खिड़की से मूझे देख रहे हें मे बहुत डर गई और चुप चाप लाइट बंद कर के लेट गई और वो चले गए। अगले दिन sunday था तो स्कूल बंद था तो मे पेंटी और हाफ pant पहन कर पर ब्रा और T shirt पहन पर ऊपर छत पर योगा कर रही थी तो दादा जी आ गए वो भी योगा करने लगे तो कहते हे लाओ मे भी करवाता हूँ योगा और वो योगा करवाने लगे और वो जानबूझ कर झुकने वाली योगा करवा रहे थे जिससे मेरी panty दिखे। फिर मूझे उल्टा लेटने को कहा मे लेट गयी और पैर की exercice करवाने लगे और धीरे धीरे अपना lund मेरे गांड मे touch करने लगे मे समझ गई कुछ नही बोली तो वो lund निकाल कर टच करने लगे मूझे भी गर्म गर्म लग रहा था अछा लग रहा था लेकिन डर लग रहा था फिर मेरे कान मे धीरे से कहते हें लड़की बनने का शौक हे क्या मे कुछ नी बोली फिर कहते हें सेक्स करोगी मे तुरंत वंहा से भाग कर आ गई और कमरा बंद करके लेट गई फिर सोचनी लगी क्या करूं क्या ना करूं फिर सोचा एक बार चुदवा लेती हूँ मजा आएगी और दोपहर मे 2 बजे दादा रूम मे आए मे पढ़ रही थी पहले पढ़ाई की बाते की फिर कहते हे सेक्स करोगी रानी बना कर रखूंगा पहले मेने काफी देर सोचा फिर कहा किसी को बताएंगे तो नी कहते हें नही फिर कहा येसे सेक्स नही करने दूंगी शादी करनी होगी मुझसे उन्होने कहा ठीक हे मेने कहा आज रात को शादी की जाए उन्होने ठीक हे तो मेने कहा rupee लाओ कपड़े लेने हे शादी के लिए और आप पंडित जी बुला लाईये तो कहते हे पहले lund तो पी लो मेने कहा शादी से पहले कुछ नही अब सुहागरात पर होगा उन्होंने 20 हजार rupee दिए और कहा लहंगा मत लेना मेरे पास हे और मे 4-5 saree ब्लाउज पेटीकोट, और mekup का सामन ले आई और रूम मे बैठ कर इंतजार करने लगी शाम के 7 बज गए थे तब तक दादा जी आ गए और कहा raddy हो पंडित जी नीचे बैठे हे मेने कहा उनको क्या बतया हे किसकी शादी वो बोले बहुत बुजूर्ग हे चल भी नही पाते हे साही से, दिखता भी नही हे सही से और कह दिया हे एक विधवा औरत हे वो मुजसे शादी करना चहती हे और वो गूंगी भी हे और वो पंडित जी आ गए। फिर दादा जी ने मूझे अपनी वाइफ का शादी वाला लहंगा दिया और उन्हीं की जेवरात दिए पहनने को फिर वो चले गए जयमाला और मंडप की तयारी के लिए और मेने दरबाजा बंद किया और सबसे पहले नंगी हुई पूरी बॉडी पर hair remover क्रीम लगाई और बाल साफ किए चिकनी हो गई फिर नहाया फिर पूरी बॉडी पर lotion लगाया फिर अपने छोटे से लुल्ली को टेप से chipka दिया फिर लाल रंग की पेंटी पहनी, फिर लाल रंग की ब्रा पहनी फिर लाल रंग की ब्रा पहनी उसके बाद लिपस्टिक लगाई आंखो मे काजल, बिन्दी लगाई कानो मे झूम्के पहने फिर सोने का हार पहना हाथो मे चूड़िया, कमर मे चांदी का माला पहना, नाभि मे रिंग पहनी पैरो मे पायल फिर पैरो मे रंग लगया, फिर नाक मे वाली पहनी फिर नकली बाल लगाए, फिर दो गुब्बारों मे पानी भर कर दूध मे लगाया और फिर मे तईयार हो गई और बैठ गई घूंघट डाल कर फिर दादा जी आए और जब देखा तो देखते ही रह गए मेर घूंघट उठने ही वाले थे मेने मना कर दिया कहा शादी के बाद। । ।
बाकि की कहनी बाद मे

Comments